21 Best Chand Shayari | Chand Shayari for GF | Chand Par Shayari

Here are some beautiful chand shayari for girlfriend. Read on and enjoy!

If you were a moon, I would be a night sky, Always there to contain your light.

Some Romantic Quotes by Piyush Mishra  


Chand Shayari for GF

सुबह हुई कि छेडने लगता है सूरज मुझको

कहता है बडा नाज़ था अपने चाँद पर अब बोलो

subah hui ki chhedane lagta hai sooraj mujhko

kahta hai bada naaz tha apne chand par ab bolo.

 

chand shayari for gf | chand shayari | chand shayari in hindi

 

उस के चेहरे की चमक के सामने सादा लगा

आसमाँ पे चाँद पूरा था मगर आधा लगा

Us ke chehare ki chamak ki samne sada laga

Aasman pe chand pura tha magar aadha laga.


कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाए,

तुम्हारे नाम की इक ख़ूब-सूरत शाम हो जाए.

kabhi to aasamanse chaan utre jam ho taye,

tumhare naam ki ek kubsurat shaam ho jaye.


रुसवाई का डर है या अंधेरों से मुहब्बत खुदा जाने

अब मैं चाँद को अपने आँगन में उतरने नहीं देता

Ruswaai ka dar hai ya andheron se mohabbat khuda jane

Ab main chand ko apne aangan mein utarne nahin deta.


Chand Shayari


रात में एक टूटता तारा देखा बिलकुल मेरे जैसा था,

चाँद को कोई फ़र्क नही पड़ा बिल्कुल तेरे जैसा था.

Raat ko ek tutta tara dekha bilkul mere jaisa tha,

Chaand ko koi fark nahi pada, bilkul tere jaisatha.


आप कुछ यूँ मेरे आइना-ए-दिल में आए

जिस तरह चाँद उतर आया हो पैमाने में

Aap kuchh yun mere aaina-e-dil mein aaye

Jis tarah chand utar aaya ho paimane mein.

 

chaand shayari | chand shayari in hindi for girlfriend | chand love shayari

 


ऐ चाँद तू भूल जायेगा अपने आप को,

जब सुनेगा दास्तान मेरे प्यार की,

क्यूँ करता है तू गुरूर अपने आप पे इतना

तू तो सिर्फ़ परछाई है मेरे यार की.

EA chaan tu bhul jayega apne aap ko,

jabsunega dastan mere pyarki,

kyon kartahai gurur apne aap pe itna,

Tu to sirf parchaihai mere pyarki.

chand me bhi daag hai shayari | chand par shayari | chand ki shayari


उस चाँद को बहुत गुरूर हैं कि उसके पास नूर हैं,

मगर वो क्या जाने कि मेरा यार भी कोहिनूर हैं.

Us chaand ko gurur hai ki uske pass  noor hai,

Magar wo kya jane ki mera pyar bhi kohinoor hai.


Read Also: Dhoka Shayari In Hindi! Pyar Me Dhoka Shayari! तेरी बेवफाई


कुछ शोख इशारों से

दरिया के किनारों से

इन चाँद सितारों से

कोई नज्म नहीं बनती.

Kuch shok isharon se

dariyan ke kinaron se

In chaand sitaroon se,

koi najm nahi banti.


Chand Shayari in Hindi

कुछ शोख इशारे तुम

दरिया के किनारे तुम

ये चाँद सितारे तुम

लो नज्म हुई जानां

Kuch shok ishare tum

dariyan ke kinare tum,

Ye chaand sitare tum,

Lo najm huwi jaana.


हकीकत में नहीं वो मेरा

पर ख्वाबो में पूरा है

बेपनाह मोहब्बत की थी उससे

इसलिए ये दिल आज भी अधुरा है

Hakikat me nahi wo mera

Par kwabome pura Hai,

Bepanha mohobbat ki thi usssse,

Isliye ye dil aaj bhi adhura hai.


बुझ गये ग़म की हवा से, प्यार के जलते चराग,

बेवफ़ाई चाँद ने की, पड़ गया इसमें भी दाग.

Bujh gaye gam ki hawase pyar ke jalte chirag,

Bewafai chaand ne ki, pad gaya isme bhi daag.


Chand Shayari in Hindi for Girlfriend

तुम सुबह का चाँद बन जाओ…

मैं सांझ का सूरज हो जाऊँ…

मिलें हम तुम यूँ भी कभी…

तुम मैं हो जाओ मैं तुम हो जाऊँ…

Tum subahaka chaand ban jao..

Mai sanj ka suraj ho jaoo…

Mile ham tum yun bhi kabhi…

Yum mai ho jaun mai tum ho jaun….

chand pe shayari | chand ko gurur hai shayari | moon shayari in english


घर बना कर मेरे दिल मे वो चली गई है…

ना खुद रहती है और ना किसी और को बसने देती है…

Ghar banakar mere dil me wo chaligai hai…

Na khud rahati hai aur na kisi aur ko basne deti hai…


चलो चाँद का किरदार अपना लें हम दोस्तो,

दाग अपने पास रखें और रौशनी बाँट दें दोस्तो।

Lo chaand ka kirdar apna le ham doston,

Dag apne pass rakhen aur roshni baat de doston.


चाँद को तारो का सहारा मिला है
इस जहा को क्या नज़ारा मिला है
हम खुद को खुश किसमत समझते है
हमें आपका साथ सारी ज़िन्दगी का मिला है।

Chand ko taaro ka sahara mila hai
iss jaha ko kya nazara mila hai
hum khud ko khush kismat samajhte hai
Hame aapka sath sari zindagi ka mila hai

____________________________________________________________________________________________________________________________

रोज तारो की नुमाईश में खलल पड़ता है
ये चाँद है पागल जो रात में निकल पड़ता है।

Rooz taaro ki numaish mee khalal padta hai
Yeh chand pagal hai andhere mee nikal padta hai
____________________________________________________________________________________________________________________________

एक अदा आपकी दिल चुराने की
एक अदा आपकी दिल में बस जाने की
चांद है आपका चेहरा
और हमें ज़िद है चांद को पाने की।

Ek aada aapki dil churane ki
Ek aada aapki dil mee bas jane ki
Chand hai aapka chehera
aur hame zid hai chand ko pane ki
____________________________________________________________________________________________________________________________

Chand me Bhi Daag Hai Shayari

देते हो क्यू ये दर्द बस हमी को
क्या समझोगे तुम इन आंखो की नमी को
यू तो होंगे लाखो दीवाने इस चांद के
चांद क्या समझेगा एक तारे की कमी को।

Deete ho kyoo yeh dard baas humiko
Kyaa samjhogee tum in aankhon ki namiko
Yu tooh honge lakho diwaane iss chand ke
Chand kyaa samjhegaa ek taare ki kamiko
____________________________________________________________________________________________________________________________

महफ़िल ना होती नज़ारे ना होते
यु चांद के पहलू में सितारे ना होते
हम इसलिए रहते है बेचैन आपके लिए
क्योकि दिल के करीब सारे नहीं होते।

Mehefil na hoti, nazare na hote
Yu chand ke pehlu mee sitare naa hote
Hum iss liye rehete hai bechain aap ke liye
Dil ke karib saare nahi hote
___________________________________________________________________________________________________________________________

दिलकश रंगत सी है तेरे इन सवालो में
हम जवाब देते देते खो गए तेरे खयालो में
ए चांद हमारा भी पैगाम उन्हें देना
कि हर पल साथ हु उसके रात और उजालो में।

Dilkash rangat si hai tere inn sawaalo mee
Hum jawab dete dete kho gaye tere khayaalo mee
Aae chand hamara bhi paigaam unhe dena
Ki main har pal sath ho uske raat aur ujaalo mee

___________________________________________________________________________________________________________________________

पत्थर दुनिया जज़्बात नहीं समझती
दिल में क्या है वो बात नहीं समझती
तन्हा तो चांद भी है सितारों के बीच
पर चांद के दर्द को रात नही समझती।

Patthar ki duniya jazbaat nahi samajhti
Dil mee kya hai wo baat nahi samajhti
Tanha toh chand bhi hai sitaro ke beech
Par chand ke dard ko raat nahi samajhti

___________________________________________________________________________________________________________________________

तुझसे तो चांद भी जलता है
तेरी खूबसूरती पे हर कोई मरता है
दुआ करते है रब से की आप हमें मिलो
दिल हमारा बस आप ही को याद करता है।

Tujhse toh chand bhi jalta hai
Teri khooburati pe har koi marta hai
Dua karte hai rab se ki aap hame milo
Dil hamara baas aapko hi yaad karata hai

___________________________________________________________________________________________________________________________

Conclusion

Beauty is always compared with the moon. As the moon looks beautiful from earth., beauty is always admired by comparing with moon. Chand Shayari is no exception.

Spread the love