Piyush Mishra Quotes- कुछ इश्क किया कुछ काम किया किताब की कुछ पंगतियाँ।

Piyush Mishra- Page 1

Piyush Mishra Quotes

पियूष  मिश्रा एक मशहूर भारतीय फिल्म और थिएटर अभिनेता, संगीत निर्देशक, गीतकार,

गायक और पटकथा लेखक माने जाते है। मकबूल (2003) और गैंग्स ऑफ वासेपुर (2012) में

अपने अभिनय के लिए प्रशंसा प्राप्त की। एक फिल्म गीतकार और गायक के रूप में, उन्हें ब्लैक

फ्राइडे, (2004) में “अररे रुक जा रे बंदेह” के अपने गीतों के लिए जाना जाता है, (2004 में

“आरम्भ है प्रचंड”, गुलाल (2009) में, “इक बागल” गैंग्स ऑफ वासेपुर में – भाग 1 , (2012),

और एमटीवी कोक स्टूडियो में “हुस्ना”, (2012)।

 

Piyush Mishra Quotes – kuch ishq kiya kuch kaam kiya. पियूष मिश्रकी मशहूर

किताब “कुछ इश्क किया कुछ काम किया “की कुछ पंगतिया जिसे अपने सपनोंको,

ख्वाहिशों को खूबसूरत ख़यालोंको एक अलग अंदाजमें शायरी की रूप में बयां किया है ।

 

कुछ इश्क किया कुछ काम किया…….

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जिस काम का बोझा सर पे हो

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जिस इश्क का चर्चा घरपे हो…..

– पियूष  मिश्रा

 

Piyush Mishra Quotes- कुछ इश्क किया कुछ काम किया किताब की कुछ पंगतियाँ।

wo kaam bhala kya kam huwa

jis kaam ka bojha saar pe ho

wo ishk bhala kya ishk huwa

jis ishk ka charcha gharpeho…

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जो मटर सरीखा हल्का हो

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जिसमे ना दूर तहलका हो…..

– पियूष  मिश्रा

 

Piyush Mishra Quotes

wo kaam bhala kya kaam huwa

jo matar sarika halka ho

wo ishk bhala kya ishk huwa

jisme na door tahelka ho..

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जिसमे ना जान रगड़ती हो

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जिसमे ना बात बिगड़ती हो…..

– पियूष  मिश्रा

 

wo kaam bhala kya kaam huwa

jisme na jaan ragadti ho

wo ishk bhala kya ishk huwa

jisme na baat bighadti ho…..

 

Piyush Mishra – कुछ इश्क किया कुछ काम किया किताब की कुछ पंगतियाँ। पृष्ठ दो

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जिसमें साला दिल रो जाए

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जो आसानी से हो जाए…..

– पियूष  मिश्रा

 

कुछ इश्क किया कुछ काम किया

wo kaam bhala kya kaam huwa

jisme sala dil ro jaye

wo ishk bhala kya ishk huwa

jo aasanise ho jaye…..

 

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जो मजा नहीं दे व्हिस्की का

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जिसमें ना मौका सिसकी का…..

– पियूष  मिश्रा

 

Piyush Mishra

wo kaam bhala kya kaam huwa

jo maza nahi de whiski ka

wo ishk bhala kya ishk huwa

jisme na mauka siski ka…..

 

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जिसकी ना शक्ल ‘इबादत’ हो

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जिसकी दरकार ‘इजाजत’ हो…..

– पियूष  मिश्रा

 

wo kaam bhala kya kam huwa

jiski na shakla ‘ibadat’ ho

wo ishk bhala kya ishk huwa

jiski darkar ‘ijazat’ ho

कुछ इश्क किया कुछ काम किया किताब की कुछ पंगतियाँ। पृष्ठ तीन

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जो कहे ‘घूम और ठगले बे’

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जो कहे ‘चुम और भगले बे’…..

– पियूष  मिश्रा

 

कुछ इश्क किया कुछ काम किया

wo kaam bhala kya kaam huwa

jo kahe ‘ghum aur thagle be’

wo ishk bhala kya ishk huwa

jo kahe ‘chum aur bhagle be’…..

 

वो काम भला क्या काम हुआ

की मजबूरी का धोका हो

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जो मजबूरि का मौका हो…..

– पियूष  मिश्रा

 

wo kaam bhala kya kaam huwa

ki majboorika dhokha ho

wo ishk bhala kya ishk huwa

jo majboori ka mauka ho…..

 

वो काम भला क्या काम हुआ

जिसमें ना ठसक सिकंदर की

वो इश्क भला क्या इश्क हुआ

जिसमें ना ठरक हो अन्दर की…..

– पियूष  मिश्रा

 

wo kaam bhala kya kaam huwa

jisme na thasak sikandar ki

wo ishk bhala kya ishk huwa

jisme na tharak ho andar ki………

RELATED:

Piyush Mishra Poetry – कुछ इश्क किया कुछ काम किया – कुछ पंगतियाँ। पृष्ठ तीन
Piyush Mishra – कुछ इश्क किया कुछ काम किया किताब की कुछ पंगतियाँ। पृष्ठ दो
Heart Touching Hindi Shayari By Piyush Mishra! हिंदी शायरी
Love Shayari By Rahat Indori In Hindi ! Rahat Indori Poetry

Leave a Comment